ईमान के अरकान पीडीऍफ़ इन हिंदी Iman Ke 6 Arkan in Hindi

ईमान के अरकान पीडीऍफ़ इन हिंदी Iman Ke 6 Arkan in Hindi दीन और ईमान की बातें sunni islamic books in hindi pdf free download ईमान के अरकान पीडीऍफ़

- Advertisement -

इस्लामिक किताब ईमान के अरकान पीडीऍफ़ में डाउनलोड करें जिसका डाउनलोड लिंक सबसे आखिर में शेयर किया गया है

ईमान के अरकान

बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम

ईमान के छः अरकान (अर्थातः स्तम्भ) है, जो निम्नलिखित है:

  • 1. अल्लाह तआला पर ईमान लाना।
  • 2. अल्लाह तआला के फ़रिश्तों पर ईमान लाना।
  • 3. अल्लाह तआला की किताबों पर ईमान लाना।।
  • 4. अल्लाह तआला के रसूलों पर ईमान लाना।
  • 5. आखि़रत (क्यामत अथवा प्रलय) के दिन पर ईमान लाना।
  • 6. अच्छी-बुरी किस्मत(भाग्य) पर ईमान लाना।

अल्लाह तमाला का फ़रमान है:

ولكن لم ، مَنَ بِاللَّهِ وَالْيَوْمِ الْآخِرِ وَالْمَلَبِكَةِ وَالْكَتَبِ والنبي ) (البقرة ١٣٣)

अनुवाद: लेकिन भलाई यह है कि मनुष्य, अल्लाह पर, आखिरत (प्रलोक) के दिन पर, फ़रिश्तों पर, (आसमानी) किताबों पर, तथा नबियों पर ईमान रखे, (लक्य, आवतः 177) अल्लाह तपाला का और फ़रमान है:

نا من الرَّسُولُ بِمَا أُنزِلَ إِلَيْهِ مِن رَّبِّهِ، وَالمُؤْمِنُونَ كُل ءَامَنَ بِاللَّهِ وَمَليكيم وكيه ورسله، لا تفرق تحت أخير من رسله ) البقرة مدام

ईमान के अरकान पीडीऍफ़ इन हिंदी

ईमान के अरकान पीडीऍफ़ इन हिंदी Iman Ke 6 Arkan in Hindi –

अनुवाद: रसूल उस चीज़ पर ईमान ले आये जो उनकी और अल्लाह तमाला की तरफ से उतारी गयी. और मुसलमान भी ईमान ले बाये। वह सब अल्लाह तमाला और उसके फरिश्तों और उसकी किताबों तथा उसके रसूलों पर ईमान लाये। (वह कहते हैं- हम उसके रसूलों में से किसी के बीच मतभेद नहीं करते, (बकरः, आवतः 2850 अल्लाह तमाला का और फरमान है:

अनुवादः हम ने हर चीज़ को एक खास अनुमान के साथ पैदा किया है।, (कुमर, आयतः 49) और नवी (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) का फ़रमान है

(الإيمان أن تؤمن بالله وملائكته وكتبه ورسله واليوم الآخر وتؤمن بالقدر خيره وشره ) [ رواه مسلم]

अनुवाद (ईमान का अर्थ यह है कि तुम. अल्लाह पर, उसके फ़रिश्तों, उसकी किताबों, उसके रसूलों, आखिरत (क्यामत) के दिन तथा अच्छी-बुरी किस्मत (भाग्य) पर ईमान रखो (सहीह मुस्लिमः

  • “ईमान” की परिभाषाः “ईमान”, नाम है “ज़वान से कहने, दिल से मानने और (उसके अनुसार) हाथ-पैर आदि द्वारा से (बैंक) काम करने कार्य (ईमान) फरमांवरदारी से बढ़ता और बुराई करने से घटता है।

PDF: ईमान के अरकान पीडीऍफ़ इन हिंदी

This book was brought from archive.org as under a Creative Commons license, or the author or publishing house agrees to publish the book. If you object to the publication of the book, please contact us.for remove book link or other reason. No book is uploaded on This website server. Only We given external Link

Related PDF

LATEST PDF