दीन की बातें अच्छी अच्छी पीडीऍफ़ Deen Ki Baatein Hindi PDF

दीन की बातें अच्छी अच्छी पीडीऍफ़ Deen Ki Baatein Hindi PDF deen ki baatein urdu book pdf download buzurgan e deen ki baatein HINDI

- Advertisement -

इस्लामिक किताब दीन की बातें पीडीऍफ़ डाउनलोड करें हिंदी में लिखा हुआ जिसका डाउनलोड लिंक सबसे आखिर में दिया गया है

दीन की बातें अच्छी अच्छी

इस्लाम और दीन की अच्छी अच्छी बातें इस पीडीऍफ़ किताब में पढ़े किताब के कुछ अंश यहाँ शेयर कर रहे है आगे पढ़े – परिचय

मेरी एक किताब “दीन की बातें” बहुत दिनों से उर्दू में छपती रही है। यह किताब मैंने ऐसे लोगों के लिए लिखी थी जो कठिन भाषा नहीं समझ सकते और आसान जबान में उनके लिए दीनी किताबों की जरूरत है। इस किताब में मैंने यह कोशिश की है कि आम आदमी को यह मालूम हो जाए कि इस्लाम के बुनियादी अक़ीदे क्या है और वे जरूरी काम क्या हैं जो एक मुसलमान को करने ही चाहिएं। मैंने यह कोशिश भी को है कि हमारी जिन्दगी के सारे ही मामलात में इस्लाम हमें जिस रास्ते पर चलाना चाहता है वह मैं लोगों के सामने रख सकूं।

दीन की बातें अच्छी अच्छी पीडीऍफ़

بسمِ اللهِ الرَّحْمنِ الرَّحِيمِ

अल्लाह के नाम से जो बड़ा मेहरबान और रहम करने वाला है।

इस्लाम – यह दुनिया आप-से-आप नहीं बन गई है। इसका एक बनाने वाला है। वही अल्लाह है। वह अकेला है। उसने सब कुछ पैदा किया है। –

यह रौशन और गर्म सूरज, यह चमकता हुआ चाँद, ये झिलमिलाते हुए तारे, ठंडी, गर्म और तेज हवाएं आसमान में तैरते हुये बादल, बादलों में बिजली की कोंद और चमक, जमीन को जिन्दा करने वाली बारिश, जमीन से उगने वाले फल फूल, पेड़, पौधे अनाज और तरकारियां, हवाओं में उड़ती हुई चिड़ियाँ ऊंचे ऊंचे पहाड़, गहरे समुद्र, बहते दरिया मतलब यह कि यहाँ जो कुछ है उसी अल्लाह का पैदा किया हुआ है वही सबका मालिक है। वही सब की देख-भाल करता है। जो कुछ होता है, उसी के हुक्म से होता है।

हर चीज उसके हुक्म पर चलती है। उसने सूरज के निकलने और डूबने का क़ायदा और वक्त मुकर्रर कर दिया है। सूरज उसी कायदे पर चलता और उसी वक्त पर निकलता और डूबता है।

  • दीन की बातें अच्छी अच्छी पीडीऍफ़ Deen Ki Baatein Hindi PDF –
  • अल्लाह ने हवाओं के चलने के लिये कायदा बना दिया है।
  • हवाएं उसी क़ायदे के मुताबिक चलेंगी। पानी बरसने का भी एक क़ानून है।
  • किसी की मजाल नहीं, जो उस क़ानून को तोड़ सके।
  • इसी तरह दुनिया की सारी चीजों के लिये एक क़ानून है
  • इसी क़ानून के मुताबिक वे पैदा होती हैं, बढ़ती और जिन्दा रहती हैं।
  • ऐसा मालूम होता है कि जिस पैदा करने वाले ने उन्हें पैदा किया है,
  • उसके क़ानून से हटना उन के बस में ही नहीं। दुनिया में जो कुछ है
  • एक ही पैदा करने वाले (अल्लाह) के बनाए हुए कानून पर चल रहा है।

इस्लाम का मतलब

  • इस्लाम” अरबी भाषा का शब्द है इसका मतलब है “ताबेदारी”।
  • ताबेदारी करनेवाले को “मुस्लिम” कहते हैं। इस मतलब को सामने रखकर देखो
  • तो दुनिया की हर चीज “मुस्लिम” ही है क्योंकि हर चीज
  • अपने पैदा करने वाले के समों पर चल रही है और पूरी ताबेदार है।
  • इन्सान भी इसी दुनिया में है। उसको भी अल्लाह ही ने पैदा किया है।
  • इन्सान के पैदा होने, जिन्दा रहने और मरने का मी एक कानून है । इन्सान
  • इसी क़ानून के मुताबिक पैदा होता है, साँस लेता है, लाता पीता और चलता फिरता है।

दीन की बातें अच्छी अच्छी पीडीऍफ़ डाउनलोड

This book was brought from archive.org as under a Creative Commons license, or the author or publishing house agrees to publish the book. If you object to the publication of the book, please contact us.for remove book link or other reason. No book is uploaded on This website server. Only We given external Link

Related PDF

LATEST PDF